0

Vastu Tips for Study Room : कैसा है आपका स्टडी रूम, वास्तु की ये बातें बहुत काम की हैं

मंगलवार,दिसंबर 10, 2019
study room
0
1
रसोईघर (उत्तर-पूर्व) में भूल से भी नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि इससे मानसिक तनाव बढ़ सकता है। साथ ही खान-पान का खर्चा भी कई गुना बढ़ सकता है और अपव्यय की स्थिति बन सकती है।
1
2
वास्तु में दिशा का बहुत महत्व है। दिशा का यह महत्व घर के संदर्भ में तो है ही, ऑफिस के लिए घर से भी कहीं ज्यादा है, क्योंकि ऑफिस में दिन का ज्यादातर समय बीतता है।
2
3
इस प्रकार यदि अविवाहितों के लिए उपाय किए जाएं तो विवाह से बाधा दूर होगी एवं उत्तम रिश्ते आने की संभावनाएं अधिक बढ़ जाएगी। शीघ्र विवाह योग बनेंगे।
3
4
वास्तु और फेंग शुई की कई सारी बातें प्रचलित है। हम लाए हैं सिर्फ 4 बातें जो सफलता की चाहत रखने वाले व्यक्तियों को अवश्य आजमानी चाहिए...
4
4
5
अगर मंदिर लकड़ी का है तो इसे घर की दीवार से सटाकर न रखें। पूजाघर में देवताओं की दृष्टि एक-दूसरे पर नहीं पड़नी चाहिए। पढ़ें 8 काम की बातें...
5
6
अक्सर लोग सोचते हैं कि वास्तु अनुसार हम अपने घर में कौनसी वस्तु या समान कहां रखें। कहीं ऐसा तो नहीं है कि कोई सी वस्तु गलत जगह या दिशा में रखी हो जिसके चलते नुकसान हो रहा हो? आजो जानते हैं संक्षिप्त जानकारी।
6
7
नई-नई शादी हुई है, रिश्तों में बन नहीं रही है रोमांस की बात, तो यह 11 वास्तु टिप्स सिर्फ आपके ही लिए है
7
8
हिन्दू पुराणों और वास्तु शास्त्र के अनुसार आप जहां रहते हैं उस स्थान से ही आपका भविष्य तय होता है। यदि आप गलत जगह रह रहे हैं तो अच्छे भविष्य की आशा मत कीजिये। अत: हर व्यक्ति को यह जानना जरूरी है कि उसे कहां रहना चाहिए और कहां नहीं रहना चाहिए।
8
8
9
घड़ी हम सबके घर में होती है। लेकिन घर की किस दिशा में घड़ी लगाना शुभ होता है यह हममें से कम लोग जानते हैं। आइए जानें घड़ी की वास्तु अनुसार कुछ खास बातें...
9
10
सीढ़ियां यदि वास्तु के अनुसार नहीं बनी है और वह खराब, अस्वच्छ है तो राहु का दोष प्रारंभ हो जाता है। सीढ़ियों की दशा और दिशा सही नहीं है तो चोर-उचक्कों का भय, व्यापार में हानि और कर्जदार होने की नौबत आ सकती है। संतान की प्रकृति पर भी इसका दुष्प्रभाव ...
10
11
बैठक रूम परिवारों के लिए एकजुट होने का स्थान है, जहां वे दिनभर की थकान के बाद कुछ समय एकसाथ बिताना पसंद करते हैं। यहीं बैठकर वे वार्ता या गपशप करते हैं। यहीं बैठकर टीवी देखते हैं या कि भावी योजनाओं पर विचार-विमर्श करते हैं। जब कोई मेहमान आता है तो ...
11
12
जब आप घर में मिटटी वाले जूते लेकर आते हैं और उत्तर दिशा में खोलकर चले जाते हैं तो आपके घर की सकरात्मक ऊर्जा भी नकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है।
12
13
घर में मिट्टी के पानी भरे घड़े के आगे दीपक लगाने से भी आर्थिक कष्ट दूर होते हैं। घर में मिट्टी की छोटी-छोटी सजावटी मटकियां रखने से रिश्तों में सौंधापन बरकरार रहता है।
13
14
घर की साज-सज्जा का एक अहम हिस्सा कमरों में लगाई गईं तस्वीरें भी होती हैं। कुछ तस्वीरों के चित्र व्यक्ति के स्वभाव व व्यवहार पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं, तो कुछ के चित्र व्यक्ति के स्वभाव व व्यवहार पर नकारात्मक।
14
15
माना कि आप सुरक्षित गाड़ी चला रहे हैं, गति की सीमा और ट्रैफिक के नियमों का पालन भी आप कर रहे हैं लेकिन फिर भी कुछ है जो आपको दुर्घटनाओं की ओर ले जा रहा है।
15
16
यदि सोच-समझकर बांसुरी का उपयोग किया जाए तो दोषों का बिना किसी तोड़-फोड़ के निवारण कर अशुभ फलों से बचा जा सकता है।
16
17
वास्तु अनुसार प्लाट या मकान के फर्श का ढाल पूर्व, उत्तर या ईशान दिशा की ओर होना चाहिए। इसमें भी उत्तर दिशा उत्तम है, लेकिन फर्श किस प्रकार का होना चाहिए यह जानना भी जरूरी है अन्यथा यह आपके जीवन पर दुष्‍प्रभाव ही डालेगा। आओ जानते हैं 5 खास बातें।
17
18
घर के लोगों में आपस में कोई बातचीत नहीं होती है तो उस घर को धर्मशाला कहते हैं। कई बार गृहकलह या वैचारिक मतभेद के चलते ऐसा होता है कि लोगों के चेहरे पर से खुशी ही गायब हो जाती है। ऐसे में घर में खुशनुमान माहौल नहीं रहता। सभी के चेहरे लटके हुए या ...
18
19
वास्तु और ज्योतिष के अनुसार यदि धन या धन की तिजोरी सही दिशा में रखी जाए तो बरकत बरकरार रहती है। आओ मान्यता के आधार पर जानते हैं कि धन रखने की सही दिशा क्या होनी चाहिए, जिससे धन सुरक्षित रहकर दिन-प्रतिदिन बढ़ता रहे।
19