0

बचने की गली: आखिर क्‍यों बार-बार टूट जाती है ‘निर्भया की आशा’

सोमवार,फ़रवरी 17, 2020
nirbhaya faisla
0
1
भाजपा जिस तरह से साल 2018 से विधानसभा चुनावों में हार का सामना करते हुए राज्यों से सिमटती चली जा रही है, वह भाजपा के लिए चिंताजनक है।
1
2
मोहल्ला स्तर के नेताओं तक ने सरकारी योजनाओं के गुलाब जामुन खाए और अपनों को खिलाए। फिर बात चाहे आवास योजना की हो, शिक्षा की हो या फिर बीपीएल कार्ड या कामकाजी महिला कार्ड की।
2
3
आरंभ से ही पूरा चुनाव आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल की ओर एकपक्षीय लग रहा था।
3
4
प्यार के कोमल स्वरूप को सहेजे जाने की जरूरत है। जहां शब्द अनावश्यक हो जाए और अभिव्यक्ति बस आंखों ही आंखों में एक से दूजे तक पहुंच जाए। एहसास की एक ऐसी भीगी बयार, जो एक-दूजे के पास ना रहने पर भी दोनों को आत्मा का गहरा संदेश दे जाए। जी हां, बस.. प्यार ...
4
4
5
देश के 1 अरब 32 करोड़ लोगों की सुरक्षा में दी गई शहादत की उम्र घटकर बस कुछ पल, कुछ लम्हें या ज्यादा से ज्यादा 1 दिन ही रह गई है।
5
6
रतन टाटा ने फेसबुक पेज 'ह्यूमंस ऑफ बॉम्‍बे' पर अपनी प्रेम कहानी का दुनिया के सामने खुलासा किया है।
6
7
इंदौर में चल रहे ‘हुनर हाट’ का। एक ऐसा हाट या यूं कहे मेला जो देशभर में लगने वाले ट्रेडिशनल मेलों से बिल्‍कुल जुदा।
7
8
प्लेटोनिक लव, झरझर करते झरने-सा निष्पाप और निष्कलंक। जहां एक-दूजे का लंबा साथ भी लंबा नहीं लगता है और दूरियां तड़पाती नहीं है। एक-दूसरे की याद सताती नहीं है और साथ रहो तो बोरियत कभी फटकती नहीं है।
8
8
9
अधिकांश देशों में चीन के बारे में यह धारणा बन चुकी है कि चीन ने जानलेवा कोरोनावायरस के प्रकोप की शुरुआत होने पर पहले इसे छुपाए रखा,लेकिन जब स्थिति भयावह हो गई, तब चीन के पास इसके अलावा कोई विकल्प नहीं था कि वह सारी दुनिया को कोरोनावायरस के प्रकोप के ...
9
10
भारतीय मतदाता ने अपनी परिपक्वता पर मुहर लगा बता दिया कि कौन कितने पानी में है? निश्चित रूप से धड़कनें तो सभी दलों की बढ़ गईं हैं
10
11
इसे 1938 में बनाया गया था। दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद मेटल यानी धातु की कमी हो गई थी, जिसके बाद करीब 3 साल तक यह ट्रॉफी प्‍लास्‍टर से बनाई गई थी।
11
12
जब हम बहुत बुरे होते हैं, तो बहुत महान तरीके से अपने पापों का ‘कन्‍फेशन’ कर लेते हैं पूरी दुनिया के सामने।
12
13
भारतीयों ने हर दूसरे मिनट में अलेक्‍सा को पूछा कि ‘क्‍या तुम मुझसे शादी करोगी’। फिर बात को आगे बढ़ाते हुए उन्‍होंने पूछा- अलेक्‍सा तुम कैसी हो, यानी हाऊ आर यू।
13
14
घटना को सीएए के समर्थन से जोड़कर बताया जा रहा है। सोमवार को यह मामला लोकसभा में भी उठाया गया। महिला आयोग ने भी मामले का संज्ञान लिया है।
14
15
केबी की मृत्‍यु के बाद मैं बेशर्म दिलचस्‍पी दिखाता हूं। हाय-हाय करता हुआ- इसी दुनिया की तरह। ‘आमतौर पर होता यही है- एक मामूली से मामूली आदमी की मौत के बाद लोग उसके कागजात में बेशर्म दिलचस्‍पी दिखाने लगते हैं’
15
16
चीन में मानव और जानवर के बीच जो संपर्क है, वही संपर्क मनुष्‍य के शरीर में वायरस को तेजी से ट्रांसफर करने की क्षमता रखता है।
16
17
सूखे हुए फूल की झरी हुई पांखुरी है प्यार। किसी किताब के कवर में छुपी चॉकलेट की पन्नी भी प्यार है और बेरंग घिसा हुआ लोहे का छल्ला भी। प्यार कुछ भी हो सकता है। कभी भी हो सकता है। बस, जरूरत है गहरे-गहरे और बहुत गहरे अहसास की। इतना गहरा कि उसकी पवित्रता ...
17
18
आजादी के नारे लगने या उससे एक वर्ष पहले लौटें तो मुंबई हमले के अपराधी याकूब मेमन की फांसी को रुकवाने के लिए रात में उच्चतम न्यायालय खुलवाने और उसकी शव यात्रा में हजारों लोगों के उतरने के समय से देश में गुस्सा बढ़ना आरंभ हुआ।
18
19
क्या प्यार की भी कोई केमेस्ट्री है? चिकित्सा विज्ञान मानता है कि मानव शरीर प्रकृति की एक जटिलतम संरचना है। इसे नियंत्रित करने के लिए स्नायु तंत्र (नर्वस-सिस्टम) का एक बड़ा संजाल भी है जो स्पर्श, दाब, दर्द की संवेदना को त्वचा से मस्तिष्क तक पहुंचाता ...
19